KULAKSHINI MANI – BANKELAL COMICS – RC 2467

KULAKSHINI MANI – BANKELAL COMICS – RC 2467

Description बांकेलाल की चाल में फंस कर रानी स्वर्णलता ने राजा विक्रमसिंह के सामने रख दी है आसमान से तारे तोड़ कर लाने की शर्त! अब अगर रानी को कोप भवन से बाहर लाना है तो राजा विक्रमसिंह को आसमान से तारे तोड़ कर लाने ही होंगे! महारानी कि इच्छा पूरी करने के लिए एक हथोडा ले कर बांकेलाल निकल पड़ा है राजा विक्रमसिंह के साथ! अब पता नहीं इस हथोडे से वो आसमान से तारे तोड़ कर लाएगा या तोडेगा राजा का सिर! इस बार उसकी चाल सफल होने की प्रबल संभावनाएं हैं क्योंकि उसे मिल गयी है कुलक्षणी मणि!

CLICK ON IMAGE TO READ KULAKSHINI MANI – BANKELAL COMICS – RC 2467