THODANGA KI MAUT – NAGRAJ – RC 444

THODANGA KI MAUT – NAGRAJ – RC 444

Description भारत में छाई इलू-इलू मच्छरों की महामारी जिसे रोकने के लिए किया नागराज ने ‘गेट-आउट मैट्स’ का प्रचार। नागराज की फीस के तौर पर गरीबों में मैट्स निःशुल्क बांटे गए। लेकिन तब नागराज के सामने आया कम्पनी का घिनौना रूप। कम्पनी ने उसे केवल एक मोहरे की तरह प्रयोग किया था और जब नागराज ने प्रतिरोध किया तो उसे मैट्स के कार्टन में पैक करके मरने के लिए भेज दिया गया सम्राट थोडांगा के पास जो हाथियों तक को पछाड़ देने वाला एक खूंखार दरिंदा था।

CLICK ON IMAGE TO READ THODANGA KI MAUT – NAGRAJ – RC 444